'Panjab Kesri' Lala Lajpat Rai ki Jeevni

    Availability:      In Stock

ISBN : 978-93-5012-863-3
AUTHOR NAME : RPH Editorial Board
YEAR: 2016
BOOK CODE: A-93
MEDIUM: Hindi
Format: Paper Back
PRICE: 35

Rs. 35

Qty:

लाला लाजपत राय की जीवनी एक महान स्वतंत्रता सेनानी की जीवन-गाथा है जो स्वतंत्रता की बलिवेदी पर अपनी जान न्यौछावर करने वाले शहीदों की प्रथम पंक्ति में थे। यद्यपि वे अपने जीवनकाल में स्वतंत्र भारत में सांस नहीं ले पाये फिर भी उनके सर्वोच्च बलिदान ने करोड़ों भारतीयों के लिये स्वतंत्रता का द्वार खोल दिया। लाला लाजपतराय ‘पंजाब केसरी’ के नाम से लोकप्रिय थे। यह उनके लिये एक पूर्णतः उपयुक्त उपाधि थी जिसे उन्होंने वीरतापूर्वक अपनी छाती पर लाठियां खाकर वास्तव में सार्थक सिद्ध कर दिया। गंभीर रूप से घायल होने के बावजूद भी वे अंग्रेजों के विरुद्ध अपने आंदोलन एवं संघर्ष में डटे रहे। अंदर के पृष्ठों में इस बात का रोचक वर्णन है कि कैसे एक साधारण स्कूल-शिक्षक का एक विनम्र पुत्र एक प्रसिद्ध वकील, सामाजिक कार्यकर्ता और एक स्वतंत्रता सेनानी बना जिसकी गणना महात्मा-गांधी, जवाहरलाल नेहरू और मदनमोहन मालवीय सरीखे शीर्ष नेताओं में हुई ओर जिसके सर्वोच्च बलिदान ने सरदार भगतसिंह और चन्द्रशेखर आजाद जैसे महान क्रांतिकारियों को ब्रिटिश सरकार से इसका बदला लेने के लिये अपनी स्वयं की कुर्बानी देने के लिये प्रेरित किया।

परिचय; प्रारंभिक जीवन; शिक्षा एवं आजीविका; कांग्रेस से संपर्क; समाज सेवा; इंग्लैंड यात्रा; लाल-बाल-पाल; भारत से निर्वासन; विदेशों में कार्य; असहयोग आंदोलन; शेर की शहादत; बहुआयामी व्यक्तित्व; अनमोल वचन; जीवन एवं कार्य.एक नजर में

You Recently Viewed Products