Home/TARUN ENGINEER BOOKS
Show Product:
Total 7 books
Aap Bhi Shuru Kar Saktein Hain Apna Start-Up...
By: Tarun Engineer
  • 0 Ratings
  • 0 Review(s)
  • Availability: In Stock

An immensely valuable book for the people who wish to start their own business but do not have the idea of "What to Start" and "How to Start". The book is in line with PM Narendra Modi's "Start up India" and "Stand up India" action plan. The book profusely provides very useful and practical ideas about businesses, their implementation, turning ideas to brands, start-ups, attracting investments, getting government subsidies, marketing of your products, and promoting your business to reach new heights.

Awasar Ko Safalta Me Kaise Badle
By: Tarun Engineer
  • 0 Ratings
  • 0 Review(s)
  • Availability: In Stock

अवसर आपके भीतर छिपा है, लेकिन उसे पहचानना होगा! कहावत है कि कामयाबी सड़क पर पड़ी नहीं मिलती, उसे हासिल करने के लिए लक्ष्य साधना पड़ता है और अवसर को सफलता में बदलना पड़ता है। इसलिए अपनी जिंदगी के सबसे महत्वपूर्ण लक्ष्य के बारे में सोचिए और पता लगाइये कि भविष्य में आप क्या बनना चाहते हैं; क्योंकि बड़ी सफलता पाने के लिए यह अद्भुत समय है। आज जब पूरा विश्व मंदी की चपेट में है, तब भारत की अर्थव्यवस्था दिन प्रति दिन सुदृढ़ होती जा रही है और हर साल पाँच हजार नये मिलियनेअर बन रहे हैं। लेकिन जो नये मिलियनेअर बन रहे हैं, वे भी पहले आप जैसे ही थे, परन्तु उनकी इच्छाशक्ति बहुत तीव्र थी और वे अवसर को सफलता में बदलना जानते थे। इसलिए अपनी प्रेरणा के एक्सीलेटर पर पैर रखिए और इस पुस्तक को ध्यान से पढि़ए, क्योंकि बिजनेस गुरु तरुण इन्जीनियर आपको कुछ ऐसे गुरुमंत्र बताने जा रहे हैं, जिनके द्वारा आप अपनी अंदरूनी शक्तियों को जगा सकते हैं; आत्मविश्वास पैदा कर सकते हैं; चुनौतियों का सामना कर सकते हैं; और किसी भी क्षेत्र में बड़ी सफलता पा सकते हैं। इसलिए आक्रामक बनें और अवसरों का पीछा करें। क्योंकि वे आपको ढूंढने नहीं आएंगे, बल्कि आपको ही उन्हें ढूंढना होगा! लेकिन कैसे ढूंढना है? कैसे उनको अमल में लाना है? और कैसे उन्हें सफलता में बदलना है? इसका तरीका यह पुस्तक बताएगी, ताकि आप उस सपने को साकार करने की प्लानिंग कर सकें, जिसे आप अब तक देखते आए हैं। 

Brahma Kamyology
By: Tarun Engineer
  • 0 Ratings
  • 0 Review(s)
  • Availability: In Stock

शरीर और आत्मा में बसा है सेक्स कहते हैं प्रेम में लोग पागल हो जाते हैं और मरने-मारने पर आमादा हो जाते हैं। क्योंकि प्रेम एक विद्युत लहर है, इसलिए प्रेम करने वाले को पता ही नहीं चलता कि यह कब हुआ और कैसे वह इसकी गिरफ्त में आ गया ? क्योंकि प्रेम जब होता है, तो हो ही जाता है। वह किसी की सुनता नहीं। प्रेमी.मन को समझाया नहीं जा सकता। इसलिए प्रेम की एक परिभाषा यह है कि वह अंधा होता है। पुराणों से लेकर इतिहास तक की प्रेमकथाएँ उठा लीजिए, सिद्ध हो जाएगा कि प्रेम सभी अंतरों को पाट देता है। ब्रह्मा काम्योलॉजी के अनुसार प्रेम की चार स्थितियाँ होती हैं। पहली स्थिति है किसी को पाने की लालसा पैदा होना, जो विपरीत लिंग वाले के प्रति झुकाव पैदा करती है। दूसरी स्थिति है आकर्षण का उत्पन्न होना। इस प्रक्रिया में तीन न्यूरा.ट्रांसमीटर दिमाग में एक साथ सक्रिय हो जाते हैं। जिन्हें एडेमालीन, डोपामाइन और सेरोटोनिन कहते हैं। फिर नसों में रक्त का संचार बढ़ जाता है और चेहरे पर लालिमा आ जाती है। जो बताती है कि जिसकी आपको तलाश थी, वह मिल गया है। प्रेम का तीसरा कीड़ा है सेरोटोनिन रसायन। यह आपकी उस शक्ति को खत्म कर देता है, जो अच्छे.बुरे की पहचान कराती है। उसके बाद चौथी स्थिति आती है अटैचमेंट की। इस स्टेज में दो हार्मोन तेजी से डवलप होते हैं। उनके नाम हैं ऑक्सीटोसिन और वासोप्रेसिन। तब स्त्री और पुरूष एक.दूसरे को ज्यादा करीब महसूस करते हैं। उसके बाद क्या होता है, जानने के लिए इस पुस्तक को तुरन्त पढ़ें। क्योंकि तरुण इन्जीनियर वो सब बताने जा रहे हैं, जो ओशो आपको बताना भूल गये थे?

Brahmaputra Kamdev Ki Wapsi
By: Tarun Engineer
  • 0 Ratings
  • 0 Review(s)
  • Availability: In Stock

ब्रह्माजी सृष्टि के रचियता, विष्णु सृष्टि के पालनहार और शिव संहारक हैं। ये तीनों ईश्वर हैं। इंद्र, अग्नि, वरुण, वायु, अश्विनी, यम और कुबेर देवता हैं।  ब्रह्माजी की जब तपस्या खत्म हो गई, तब वे हिमालय से वापस आए और अपने सिंहासन पर विराजमान हो गए। सारे मानस पुत्रा निकट आ गए। पहले ब्रह्माजी ने अपने हृदय से संध्या को उत्पन्न किया, फिर अपने मन से एक सुंदर-बलिष्ठ और आकर्षक युवक को उत्पन्न किया। जिसे ब्रह्माजी ने नाम दिया कामदेव।  क्योंकि उस युवक का रंग सोने जैसा था, बाल घुंघराले थे, लंबी तीखी नाक थी, पतले होंठ थे, गोल चेहरा था, आँखों का रंग भूरा था। पीछे उसके पंख लगे थे, कंधे पर धनुष लटका हुआ था।  युवक ने हाथ जोड़कर ब्रह्माजी से पूछा, ‘‘मेरे लिए क्या आदेश है पिताश्री-? मेरे योग्य सेवा बताइए ?’’   ‘‘तुम कामदेव हो।’’ ब्रह्माजी ने कहा, ‘‘मैंने तुम्हारा निर्माण इस सृष्टि को चलाने के लिए किया है। क्योंकि सृष्टि का विकास रुका हुआ है। देखो घूमती हुई पृथ्वी? ये जंगल हैं, ये पहाड़ हैं, ये पर्वत हैं, ये नदियाँ हैं, ये समुद्र हैं और जो छोटे-छोटे जमीन पर चलते-फिरते दिखाई दे रहे हैं, वे कुछ पुरुष हैं और कुछ स्त्रिायाँ। लेकिन कोई किसी को नहीं देख रहा है। सब दिशाहीन से होकर इधर-उधर घूम रहे हैं।’’   ‘‘मुझे क्या करना होगा पिताश्री-?’’ कामदेव ने जिज्ञासा व्यक्त की।  ब्रह्माजी ने कहा, ‘‘तुम्हें मेरी बनाई इस सृष्टि में जीव-जन्तु, पक्षी-जानवर और समस्त प्राणियों के मन में प्रेम उत्पन्न करना होगा, सेक्स का भाव जगाना होगा और उन्हें सम्भोग करने के लिए प्रेरित करना होगा?’’
लेकिन क्या कामदेव अपने कार्य में सफल हुआ? जानने के लिए पढ़ें .....
तरुण इन्जीनियर’ की तिलस्मी माइथोलाजी.....
विश्व की पहली पुस्तक, जो आपको सृष्टि के विस्तार के बारे में बताएगी और समझाएगी कि आपकी उत्पति क्यों हुई है? और किस उद्देश्य के लिए हुई है-?

Chamatkaar ki Umeed Karo Chamatkaar Ho Jayega...
By: Tarun Engineer
  • 0 Ratings
  • 0 Review(s)
  • Availability: In Stock

यहां अपने अवचेतन मस्तिष्क को चमत्कार करने वाली फ्रीक्वेंसी पर सैट करें। आपका अवचेतन मस्तिष्क आपका सेन्ट्रल प्रॉसेसिंग यूनिट है। इसलिए किसी भी चीज को हासिल करने के लिए मस्तिष्क की री-प्रोग्रामिंग करें। उसके बाद वह चीज पिक्चर की तरह विजुअलाइज हो जाएगी और बिना प्रतिरोध के वो सब कुछ आप तक पहुँचाएगी, जिसके आप सपने देखते हैं। क्योंकि आपके विचार आपकी फ्रीक्वेंसी तय करते हैं और आपकी भावनाएं आपको तत्काल बता देती हैं कि आप किस फ्रीक्वेंसी पर हैं। इसलिए अपने अवचेतन मस्तिष्क को चमत्कार करने वाली फ्रीक्वेंसी पर सैट करें, तब आप भी चमत्कार करने लगेंगे। चाहे आपकी परिस्थितियाँ कितनी भी विपरीत क्यों न हों? या शिक्षा बहुत कम हो? या जीवन गरीबी में बीता हो? उसके बाद भी चमत्कार जरूर होगा। क्योंकि आप दुनिया के शक्तिशाली चुंबक हैं और ब्रह्मांड आपको वो सब कुछ देने के लिए तैयार है, जो आप चाहते हैं। हॉलीवुड हो या बालीवुड, राजनीति हो या रणनीति, स्कूल हो या कॉलेज, बिजनेस हो या नौकरी, उद्योग हो या व्यापार! चमत्कार हर क्षेत्र में होते हैं और उन्हें करने वाले आप जैसे ही लोग होते हैं। इसलिए आप भी चमत्कार कर सकते हैं क्योंकि चमत्कार होते नहीं, किये जाते हैं।

Good to Great
By: Tarun Engineer
  • 0 Ratings
  • 0 Review(s)
  • Availability: In Stock

There is an Undeclared agreement between God and You. This agreement states, “You do whatever you like, but I do whatever you wish for.”
But without Struggle a man’s life is incomplete. Without Love a woman is incomplete. Even then their union is necessary. Hence, produce a passion in your heart to do something!
Because gold gets melted in fire to become the purest. Snow melt due to hot winds. A mountain is shaken by strong determination and good thoughts help us get everything.
When you have cards in your hands, think how would you play the game to win it? Because the Secret of Success in business is—Learn completely about a thing that is not known to anyone else.
Hence, do that one task which is full of challenge for others. Because ninety per cent people of this world become old while earning money.  But even then they are not able to get the desired wealth.
This tells us how much difficult it is to earn money. Hence, do not  think about earning money, think only about making money. Because money is made, not earned to become rich. This is the basic formula of Good to Great. You can use it any time, whatever your age may be!
GET MORE THAN YOU EXPECT

Pick the Best and Leave the Rest
By: Tarun Engineer
  • 0 Ratings
  • 0 Review(s)
  • Availability: In Stock

You have the ability, experience and behavioural finesse. But even then, you are not able to succeed. Why is that so? Whereas some people are less educated but earn millions. They achieve big success even after doing less hard work. They are not good in behavioural terms but they join the ranks of influential people. Have you ever thought about it?     If you have not, we can tell you the secret behind this. Because this difference is of the brain and brain is the power that recognizes the power hidden in thoughts. Then, you can win any big battle. Anil Ambani once said, “There is no alternative of brain power. Due to this power, you are able to control your chaotic life. Because when you start using it properly, your memory and vision increase.” Tarun Engineer has written many Superhit books for the  Diamond Books, Raja Pocket Books, Berry-kerry Books & Ramesh Publishing House. ‘Pick the Best and Leave the Rest’ is his best creation in the category so far.  Mr. Engineer has worked hard to collect ideas and thoughts from numerous resources. This is a result of his unflinching dedication to the realm of book writing. He would do many more prestigious projects like this one in the future too. Before reading this book, you must learn what the objective behind reading this book really is. Is it polishing career, or is it for developing your business? Is it for making your future secure, or is it for bringing prosperity in the family? Is it for setting up an industry, or is it for getting back lost love? When you take the decision about this, these thoughts would start doing miracles.